उत्तराखंड

उत्तराखंड की इस सीट पर महिला वोटर ‘नायिका’ बनीं, पांच साल में इतने मतदाता बढ़े

अल्मोड़ा-पिथौरागढ़ संसदीय सीट पर वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में महिलाओं की महत्वपूर्ण भूमिका रही थी। पिछले पांच साल में इस सीट पर 14,972 महिला वोटर बढ़ीं हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि 2024 में भी सांसद चुनने में नारी शक्ति की अहम भूमिका रहेगी।

चार जिलों वाली अल्मोड़ा-पिथौरागढ़ संसदीय सीट के अंतर्गत 14 विधानसभा क्षेत्र आते हैं। इनमें अल्मोड़ा जिले की अल्मोड़ा, द्वाराहाट, सल्ट, रानीखेत, सोमेश्वर, जागेश्वर, बागेश्वर जिले की बागेश्वर, कपकोट, पिथौरागढ़ जिले की पिथौरागढ़, गंगोलीहाट, डीडीहाट, धारचूला, चंपावत जिले की चंपावत और लोहाघाट विधान सभा शामिल हैं। इन चौदह विधान सभाओं में कुल 13.37 लाख मतदाता हैं। इनमें 6,50,677 महिला मतदाता हैं।

वर्ष 2019 में हुए लोकसभा चुनाव में महिला मतदाताओं की संख्या 6,35,705 थी। पूरे संसदीय सीट पर  पिछले पांच साल में 14,972 महिला मतदाता बढ़ी हैं। संसदीय सीट में भले ही महिलाओं की संख्या पुरुषों के मुकाबले कम हो इसके बावजूद पिछले चुनाव में महिलाओं ने सांसद चुनने में अहम भूमिका निभाई थी। ऐसे में जाहिर है कि इस बार के चुनाव में भी महिला मतदाता निर्णायक की भूमिका में रहेंगी।

13 सीटों पर सांसद चुनने में पुरुषों के मुकाबले आगे रहीं थीं नारी शक्ति 
विस सीट    मत प्रतिशत    पुरुष        महिला
द्वाराहाट        46.88        38.58        54.78
सल्ट          38.61        30.92           46.59
रानीखेत        46.15        40.47        52.28
सोमेश्वर        51.19        42.72        60.04
अल्मोड़ा        54.65        49.99        59.68
जागेश्वर        49.59        42.46        57.41
कपकोट        55.88        50.04        61.82
बागेश्वर        58.31        49.29        67.66
चंपावत        60.20        56.76        65.70
लोहाघाट        52.75        44.66        59.63
गंगोलीहाट       51        45.32          54.68
पिथौरागढ़       53.17        47.60      52.40
डीडीहाट        51.60        49.13        50.87
धारचूला        53.31        51.25        48.75

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button